Success Story Of IAS Topper Ramit Chennithala

Aadmin


Success Story Of IAS Topper Ramit Chennithala: यूपीएससी के क्षेत्र में आने से पहले रमित ने कंप्यूटर इंजीनियरिंग से ग्रेजुएशन किया था. पढ़ाई पूरी होने के बाद कैम्पस प्लेसमेंट के माध्यम से उन्हें कई नौकरियां भी ऑफर हुईं लेकिन रमित ने किसी भी जॉब को एसेप्ट नहीं किया. यहां तक पहुंचने के बाद उन्हें आईटी फील्ड में जाने का मन नहीं था या कहें उनका मन बदल चुका था. आखिरकार रमित ने नौकरी के ऑफर ठुकरा यूपीएससी की तैयारी का मन बनाया. ये जानते हुए भी कि इस फील्ड में सफलता आसानी से नहीं मिलती और कई बार तो बहुत कोशिशों के बाद भी कैंडिडेट असफल होते हैं, रमित ने ये रिस्क लिया. शुरू-शुरू में रमित को असफलताओं का सामना भी करना पड़ा लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी. आखिरकार तीसरे प्रयास में रमित का 210वीं रैंक के साथ सेलेक्शन हो गया. इसके अंतर्गत उन्हें आईपीएस सेवा एलॉट हुई. यही नहीं साल 2017 में जब रमित का चयन हुआ तो वे इस साल इंटरव्यू में सबसे अधिक अंक पाने वाले कैंडिडेट भी बने.

दिल्ली नॉलेज ट्रैक को दिए इंटरव्यू में रमित ने यूपीएससी पर्सनेलिटी टेस्ट की तैयारियों के विषय में विस्तार से बात की.

रमित की शुरुआती शिक्षा –

रमित का जन्म और शुरुआती पढ़ाई-लिखाई दिल्ली में हुई हालांकि उनके बेस की बात करें तो वे केरला के हैं. क्लास 12 तक दिल्ली में रहने के बाद रमित ग्रेजुएशन करने केरला चले गए और वहीं चार साल बिताए. इसी दौरान रमित को यूपीएससी परीक्षा देने का विचार आया. सामने से आ रहे नौकरी के ऑफर छोड़ रमित, परिवार के सपोर्ट से यूपीएससी की तैयारी में लग गए. दो बार के प्रयास व्यर्थ जाने के बाद अंततः उनका तीसरे प्रयास में सेलेक्शन हो गया.

खुद को रोज इंटरव्यू हॉल में इमेजिन करते थे –

इंटरव्यू के विषय में बात करते हुए रमित कहते हैं कि हो सकता है आपको ये सुनकर हंसी आए पर जिस दिन से उन्हें साक्षात्कार का कॉल आया था उस दिन से वे रोज खुद को साक्षात्कार के लिए हॉल में बैठ इमेजिन करते थे. इंटरव्यू के लिए वे इतना एक्साइटेड और खुश थे कि उसे शब्दों में बयां नहीं कर सकते. वे रोज सोचते कि ऐसे हॉल में जाएंगे, ऐसे सभी को ग्रीट करेंग, ऐसे बात करेंगे वगैरह-वगैरह. रमित कहते हैं कि इससे उन्हें बहुत फायदा हुआ और वे इसे एक प्रकार का मेडिटेशन मानते हैं जिसने फाइनल इंटरव्यू वाले दिन उनकी बहुत मदद की.

न्यूज पेपर का अहम रोल –

रमित कहते हैं कि यूं तो पर्सनेलिटी टेस्ट आपकी नॉलेज की परीक्षा नहीं लेता लेकिन फिर भी खुद को अपडेट रखने के लिए और कुछ करें न करें पर न्यूज पेपर रोज़ पढ़ें. इससे आपको सभी लेटेस्ट न्यूज पता रहती हैं. आगे बात करते हुए रमित कहते हैं कि कई बार कितनी भी तैयारी कर लें लेकिन कुछ प्रश्न ऐसे होते ही हैं जिनके उत्तर कोई नहीं जानता. ऐसे में घबराएं नहीं और शालीनता के साथ सॉरी बोलते हुए बात खत्म कर दें. कई बार बोर्ड के सदस्य आपको प्रोवेग करने की कोशिश करते हैं लेकिन आप अपना संतुलन बनाएं रखें. पूरे साक्षात्कार के दौरान काम और कंपोज्ड रहें और चेहरे पर एक हल्की सी स्माइल बनाए रखें.

छोटी लेकिन अहम बातें –

रमित बात को आगे बढ़ाते हुए कहते हैं कि इंटरव्यू के दौरान कुछ छोटी लेकिन जरूरी बातों का ध्यान रखें, ये देखने में छोटी लगती हैं पर अहम प्रभाव डालती हैं. जैसे आज्ञा मांगकर ही कमरे में प्रवेश करना, बोले जाने पर ही बैठना, जितना पूछा जाए उतना ही जवाब देना, ढ़ंग के और आरामदायक कपड़े पहनना, बाल छोटे और शेव क्लीन रखना, सबसे पहले महिला सदस्य को ग्रीट करना वगैरह.

अन्य जरूरी बातों में आता है ईमानदार उत्तर देना. जो है वही कहें, जबरदस्ती की बातें न करें और न ही झूठ बोलने का प्रयास करें. अपने डैफ को ठीक प्रकार तैयार करके जाएं और हर प्रश्न का उत्तर संतुलित दें. इन छोटी लेकिन जरूरी बातों का ध्यान रखकर आप भी साक्षात्कार में अच्छे अंक पा सकते हैं.

RBSE Board Exams 2021: राजस्थान बोर्ड ने 10वीं और 12वीं के लिए आवेदन की अंतिम तारीख आगे बढ़ाई, यहां जानें नई डेडलाइन

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI



Source link

Thanks For your support

Next Post

Bird Flu Centre Asks States Not To Ban Supply Of Poultry From Other States | बर्ड फ्लूः दिल्ली में 'चिकन' की बिक्री पर रोक, केंद्र ने राज्यों से कहा

नई दिल्ली: देश के दस राज्यों में बर्ड फ्लू के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है. इस बीच मत्स्य पालन, पशुपालन, डेयरी मंत्रालय (MFAHD) ने सभी राज्यों से पोल्ट्री और पोल्ट्री उत्पादों की आपूर्ति पर प्रतिबंध न लगाने के लिए कहा है. मंत्रालय का कहना है कि दूसरे राज्यों से मुर्गों की […]

Subscribe US Now